Networking Marketing Kya Hai | नेटवर्क मार्केटिंग क्या है

Networking Marketing Kya Hai :- प्रिय मित्रों आज हम आपको  नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में विस्तार से बताएंगे। आज हमने इस लेख में नेटवर्क मार्केटिंग क्या है, नेटवर्क मार्केटिंग के अन्य भी नाम इत्यादी के बारे आपके लिए विस्तार से जानकारी दी है। हमारा यह लेख पढ़ने के बाद आपको Network Marketing In Hindi की पूर्ण जानकारी के बारे में पता लग जाएगा। 

Networking Marketing Kya Hai In Hindi


नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में आपने भी बहुत सुना होगा क्योंकि आजकल मार्केटिंग के बारे में हर जगह बात की जा रही है क्योंकि मार्केटिंग का एक अलग सा मॉडल है और बहुत सी कंपनियां इस मार्केटिंग मॉडल कोई टाइम से अपना भी रही है. इसलिए आपको भी नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में जानकारी रखनी चाहिए

Networking Marketing Kya Hai
Networking Marketing Kya Hai

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है नेटवर्क मार्केटिंग में लोग शामिल होते हैं नेटवर्क बेचने पर कमीशन मिलता है जब भी वह कोई भेजते हैं या फिर उनके द्वारा नेटवर्क पर छोड़ा गया नया मेंबर कोई प्रोडक्ट सेल करता है तो इस मॉडल में हर पार्टिसिपेंट को आईपीओ कहा जाता है यानी इंडिपेंडेंट बिजनेस करते हैं

What Is Network Marketing In Hindi


Network Marketing :- चलिए शुरू करते हैं कि सबसे पहले जानते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग क्या होती है। नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा बिजनेस मॉडल है जिसमें लोग एक पिरामिड स्ट्रक्चर के रूप में शामिल होते हैं। और किसी कंपनी के प्रोडक्ट को बेचते हैं और इस कंपनी का हर एक मेंबर एक इंडिपेंडेंट सेलर रिप्रेंटिटिव होता है। इस प्रोडक्ट में जुड़ने वाले लोगों को प्रोडक्ट बेचने पर कंपनी द्वारा एक फिक्स कमीशन दिया जाता है। जब भी को कोई प्रोडक्ट बेचते हैं या फिर नेटवर्क में जोड़ा गया हूं उनके द्वारा नए मेंबर प्रोडक्ट को सेल करता है तो इस बिजनेस में हर पार्टिसिपेंट को आईपीओ कहा जाता हैं। आईपीओ का पूरा नाम इंडिपेंडेंट बिजनेस ओनर होता है। क्योंकि वह अपने बिजनेस को खुद प्रमोट करते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए प्रोडक्ट को डायरेक्ट कस्टमर के पास पहुंचाया जाता है। अर्थात इसका मतलब है कि नेटवर्क मार्केटिंग में प्रोडक्ट की डायरेक्ट सेल की जाती है। 

नेटवर्क मार्केटिंग को मल्टी लेवल मार्केटिंग भी कहा जाता है। इनके अलावा नेटवर्क मार्केटिंग के अन्य भी नाम है जैसे कि

  • Cellular marketing
  • Affiliate marketing
  • Consumer-Direct Marketing
  • Referral Marketing
  • Home-Based Business Franchising

Network Marketing Hindi


अब नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में जानने के बाद हम इसको एक उदाहरण के रूप में समझते हैं। 

मुख्यतः मार्केटिंग में यही फार्मूला होता है कि आप किसी भी कंपनी का कोई भी प्रोडक्ट बेचेंगे तो आपको उस प्रोडक्ट के अनुसार उसका कमीशन या पेमेंट मिल जाएगा। लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग इससे थोड़ा अलग हैं।  तो जानते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग थोड़ी अलग कैसे है। 

मान लीजिए कि आप किसी कंपनी से जुड़े हुए हैं और आप उस कंपनी का प्रोडक्ट सेल करते हैं। और वह प्रोडक्ट आपने अपने किसी रिश्तेदार को बेचा। ऐसा करने पर आपको कंपनी के द्वारा उस प्रोडक्ट पर कुछ कमीशन दिया जाएगा। लेकिन अगर आपकी उस रिश्तेदार ने उसी प्रोडक्ट को अपने किसी रिश्तेदार या दोस्त को बेच देता है तो उसका कमीशन आप को और अपने रिश्तेदार दोनों को मिलेगा। जिसमें आपको मिलने वाले कमीशन का एक फिक्स प्रतिशत होगा। 

लेकिन अब सवाल यह है कि कि जब आपके रिश्तेदार ने प्रोडक्ट को बेचा तो आपको कमीशन आपको भी क्यों मिलता है। तो हम आपको बता दें कि नेटवर्क मार्केटिंग इसी कॉन्सेप्ट के ऊपर काम करता हैं। अर्थात आप जैसे जैसे अपने नेटवर्क में लोगों को जोड़ते जाएंगे और वह लोग उस कंपनी के प्रोडक्ट को बेचेंगे तो उसमें से आपको भी कमीशन मिलता जाएगा। तो इसी तरह नेटवर्क मार्केटिंग का यह पिरामिड बढ़ता जाता है। क्योंकि कंपनी के मेंबर अपने नेटवर्क में नए-नए मेंबर्स को जोड़ते रहते हैं और उन्हें उस कंपनी का प्रोडक्ट सेल करते रहते हैं। तू इस प्रकार उस कंपनी का नेटवर्क मार्केटिंग का पिरामिड बहुत बड़ा हो जाता है और उस पिरामिड में लोगों की अलग-अलग पोजीशन होती है जिसके हिसाब से उनको कमीशन मिलता जाता है। मेंबर्स की कमीशन और पोजीशन नए मेंबर्स के जोड़ने के पश्चात बढ़ती जाती है। 

Network Marketing Benefits In Hindi


अब नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में अच्छी तरह से समझने के पश्चात इसके लाभ के बारे में बात करते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग के अनेक लाभ हैं जैसे कि

  • नेटवर्क मार्केटिंग को फॉलो करने वाले ऑर्गनाइजेशन और कंपनियां अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग और सेल्स डायरेक्ट कस्टमर के साथ करती हैं। इसके लिए वह किसी डिस्ट्रीब्यूटर चैनल या डिस्ट्रीब्यूटर की सहायता नहीं लेते हैं। 
  • इस बिजनेस मॉडल में जुड़ने के लिए आपको बहुत अधिक इन्वेस्टमेंट नहीं करना होता है। और ना ही कोई समय की सीमा होती है। 
  • इस प्रकार के बिजनेस मॉडल मैं पार्टिसिपेट को बहुत अधिक ऑफर और डिस्काउंट भी मिलते है। क्योंकि वह पार्टिसिपेट इस नेटवर्क के कस्टमर भी होते हैं। 
  • इस बिजनेस मॉडल ने आपको ज्यादा एडवर्टाइजमेंट करने की आवश्यकता नहीं होती है। क्योंकि इसमें मार्केटिंग डायरेक्ट कस्टमर से बात करके की जाती है। 
  • इस बिजनेस मॉडल का पिरामिड जैसे-जैसे बढ़ता जाता है वैसे ही हर पार्टिसिपेट का कमीशन भी बढ़ता जाता है। 
  • इसमें पार्टिसिपेट को कोई फिक्स सैलरी नहीं दी जाती है बल्कि अगर वह अच्छा परफॉर्म करते हैं तो उन्हें अच्छा कमीशन मिलता हैं। 

नेटवर्क मार्केटिंग के इतनी अधिक लाभ होने के बाद भी इसके दूसरे पहलू को भी देख लेना चाहिए ताकि आगे चलकर आपको कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े। 

  • इस नेटवर्क मार्केटिंग में कई फ्रॉड कंपनियां अपना गलत या फरौड़ प्लान दिखा करके उन्हें अपनी और आकर्षित करती हैं और उनका पैसा लेकर भाग जाती हैं। तू इस स्थिति में आप जिस कंपनी से जुड़ते हैं उस कंपनी का पूरा ही सर्च करें और ऐसी कंपनियों से सतर्क रहें। 

किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले आपको उस कंपनी के निम्न सवालों के बारे में जानकारी हासिल करनी चाहिए। 

  • उस कंपनी के प्रिंसिपल्स क्या है। 
  • उस कंपनी के फाउंडर का ट्रैक रिकॉर्ड क्या है। 
  • उस कंपनी में ट्रेनिंग कैसे दी जाती है। 
  • उस कंपनी के प्रोडक्ट को क्या आप उपयोगी समझते है। 
  • कंपनी के प्रोडक्ट की क्वालिटी और उसकी प्राइस क्या रीजनेबल है। 
  • क्या कस्टमर्स उस कंपनी के प्रोडक्ट को खरीदने में अपना इंटरेस्ट दिखाते हैं। 
  • कंपनी के इस प्रोडक्ट को क्या इफेक्टिवली प्रमोट किया गया है। 

निम्न बातों के बारे में जानकारी करने के पश्चात आप कंपनी के बारे में अनेक जानकारी हासिल कर सकते हैं और आप उस कंपनी के नेटवर्क में जुड़कर अच्छा खासा कमीशन प्राप्त कर सकते हैं। 

आजकल बहुत कंपटीशन का जमाना है और थोड़ा सा ज्यादा पाने की चाह में अक्सर लोग बहुत गलत फँस जाते हैं। क्योंकि लोगों के पास दिखाने के लिए बहुत कुछ है। लेकिन कौन कितना रियल है या नहीं यह सारी जांच पड़ताल आप ही को करनी होगी। इसलिए किसी की बात में ना आए अपनी तरफ से आराम से टाइम लेकर सारे सर्च करें। और तभी आगे बढ़े कि यहां पर आप की खून पसीने की सारी कमाई लग रही होती है। फिर टाइम जा रहा होता है। कि आप आराम से लेकर सर्च करें और आगे बढ़े और बाकी लोगों को भी अपने साथ जोड़े। 

यह भी पढ़ें –

पेटीएम का मालिक कौन है | Paytm Ka Malik Kaun Hai

कंप्यूटर क्या है | Computer Kya Hai | What Is Computer In Hindi

हम आशा करते है कि हमारे द्वारा लिखा गया Networking Marketing Kya Hai आपको पसंद आयी होगा। अगर यह लेख आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment